38.1 C
New Delhi
Tuesday, May 17, 2022
HomeENGLISHAUTOMaruti finalizes site for plant in Haryana 2-5 lakh cars per year...

Maruti finalizes site for plant in Haryana 2-5 lakh cars per year in 1st phase – Auto news hindi


मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) ने हरियाणा के सोनीपत जिले के आईएमटी खरकोदा (IMT Kharkoda) में प्लांट की प्रक्रिया पूरी कर ली है। कंपनी ने शेयर बाजार को नए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सोनीपत जिले के आईएमटी खरखोदा में 800 एकड़ जमीन के आवंटन की प्रक्रिया पूरी कर ली है। इसके लिए कंपनी ने हरियाणा स्टेट इंडस्ट्रीयल एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (HSIIDC) के साथ करार किया है। इस मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए कंपनी पहले फेज में 11,000 करोड़ रुपए निवेश करेगी।

प्लांट में हर साल 2.5 लाख यूनिट्स तैयार होंगी

कंपनी ने बताया कि नए प्लांट का पहला फेज 2025 तक पूरा होने की उम्मीद है। इस प्लांट में कंपनी हर साल 2.5 लाख यूनिट तैयार करेगी। नए प्लांट के निर्माण से जुड़ी प्रशासनिक मंजूरियां ली जानी अभी बाकी हैं। भविष्य में सोनीपत प्लांट को और भी डेवलप किया जाने के लिए भी जगह होगी। वर्तमान में मारुति सुजुकी के दो प्लाटं हैं। ये गुरुग्राम के मानेसर और गुजरात के अहमदाबाद जिले के हंसलपुर बेचाराजी गांव में हैं। कंपनी इन प्लांट में सालाना 20 लाख मॉडल का प्रोडक्शन करती है। ओईएम छोटे वाहनों की श्रेणी में वैगनआर, स्विफ्ट, ऑल्टो, ईको और सेलेरियो जैसे कई हॉट-सेलिंग मॉडल बनाती है।

ये भी पढ़ें- Alto से Swift, WagonR तक; आपने 20% डाउन पेमेंट किया तब कितनी होगी मारुति कारों की EMI; समझें गणित

संबंधित खबरें

ये भी पढ़ें- Ola ई-स्कूटर ने रिवर्स गियर में पकड़ी 50Km/h की रफ्तार, राइडर का सिर फटा 11 टांके लगे: हाथ भी टूटा

हैचबैक के लिए बाजार सिकुड़ रहा

कंपनी जल्द ही मीडियम साइज की SUV सेक्टर में उतरने का प्लान है। ऐसे में मारुति सुजुकी भी पैसेंजर ऑटोमोबाइल्स के बड़े सेगमेंट में और भी बड़ी पोजीशन लेने पर विचार कर रही है। मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आरसी भार्गव ने वर्तमान कमाई को लेकर कहा कि उनके छोटे व्हीकल किसी ब्रेड और बटर की तरह है। हालांकि, अब छोटी कारों का बाजार सिकुड़ रहा है। हमें अपनी टेक्नोलॉजी बदलनी पड़ेगी। क्योंकि सीमित आय वाले ग्राहक बढ़े हुए प्राइस के चलते ऑटोमोटिव बाजार से बाहर आ रहे हैं। अब हैचबैक के लिए ये बाजार सिकुड़ गया है।



Source link

RELATED ARTICLES
%d bloggers like this: