38.1 C
New Delhi
Tuesday, May 17, 2022
HomeENGLISHSTATEbihar weather: Bihar Weather : पंखा से नहीं चल रहा काम...चिपचिपी गर्मी...

bihar weather: Bihar Weather : पंखा से नहीं चल रहा काम…चिपचिपी गर्मी भारी मुसीबत…बिहार में बढ़ने लगी उमस से परेशानी : bihar weather problems due to humidity in entire state including patna remain same for three days


पटना :बिहार का मौसम (Bihar Weather) बदलने लगा है। बारिश से पहुंची राहत तेज धूप के साथ खत्म हो रही है। एक बार फिर राज्य का तापमान तेजी से ऊपर चढ़ने लगा है। उमस से परेशानी बढ़ने लगी है। दिन में तेज धूप होने की वजह से लोग पसीने से तर-बतर नजर आते हैं। पंखा की हवा से भी बहुत राहत नहीं मिल पा रही है। असानी तूफान की वजह से पिछले एक सप्ताह से लोगों को सुकून था। मगर अब हालात बदलने लगे हैं।

कम से कम तीन दिन झेलनी होगी उमस
मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अगले तीन दिन तक इसी तरह के हालात बने रहेंगे। 15 मई यानी आज के लिए राज्य के उत्तरी भाग के इलाकों के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। आठ जिलों के लोगों के लिए चेतावनी दी गई है। उन इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश की संभावना है। 16 मई को 12 जिलों के लिए यलो अलर्ट यानी सावधान रहने को कहा गया है। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक फिलहाल प्री-मॉनसून का दौर चल रहा है। ऐसे में तापमान में उतार-चढ़ाव जारी रहेगा।

बिहार में 42 डिग्री तक पहुंचा तापमान
बिहार के कई इलाकों में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया। पटना में भी भारी उमस से लोग परेशान दिखे। यहां के लोगों के लिए फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के मुताबिक 15 मई यानी रविवार को बिहार के 14 जिलों पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, कैमूर, रोहतास, बक्सर और औरंगाबाद में गरज के साथ बारिश के आसार हैं।

समय से पहले आ सकता है मॉनसून
मॉनसून आमतौर पर 16-18 जून के बीच बिहार में प्रवेश करता है। पिछले साल, हालांकि, मानसून ने 12 जून को पूर्णिया से बिहार में प्रवेश किया था। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के एक वरिष्ठ अधिकारीने कहा कि बिहार सहित पूर्वी भारत में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की प्रगति की समग्र स्थिति वर्तमान में अनुकूल प्रतीत होती है। उन्होंने कहा कि ‘हालांकि इस क्षेत्र में मौसम की स्थिति मॉनसून की प्रगति के लिए अनुकूल है, हम अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए कुछ और दिनों तक स्थिति पर नजर रखेंगे।’ मानसून की प्रगति पर चक्रवात असानी के किसी भी प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर, मौसम विज्ञानी ने कहा कि ‘हालिया चक्रवात केरल में मानसून की शुरुआत पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं डालेगा।’



Source link

RELATED ARTICLES
%d bloggers like this: