40.1 C
New Delhi
Monday, May 16, 2022
HomeENGLISHPOLITICSanil deshmukh application rejected by court: अदालत ने ठुकराई अनिल देशमुख की...

anil deshmukh application rejected by court: अदालत ने ठुकराई अनिल देशमुख की अर्जी


मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को मुंबई सेशंस कोर्ट (Mumbai Sessions Court) से तगड़ा झटका लगा है। दरअसल अनिल देशमुख ने अदालत से निजी अस्पताल में इलाज करवाने की इजाजत मांगी थी। हालांकि अदालत ने उनकी याचिका को ठुकराते हुए मुंबई (Mumbai) के सरकारी अस्पताल में इलाज करवाने का आदेश दिया है। आपको बता दें कि अनिल देशमुख के बाएं कंधे में दर्द है। जिसका वह निजी अस्पताल में ट्रीटमेंट करवाना चाहते थे। कोर्ट ने कहा कि उन्हें निजी अस्पताल में इलाज करवाने की जरूरत नहीं है। दरअसल अनिल देशमुख ऑर्थर रोड जेल (Arthur Road Jail ) में गिर गए थे। जिसकी वजह से उनके बांया कंधा डिसलोकेट हो गया है। वहीं नवाब मलिक को भी अदालत ने निजी अस्पताल में इलाज की इजाजत दे दी है।

अनिल देशमुख आरोप
अनिल देशमुख को ईडी ने पिछले साल दिवाली के समय पर गिरफ्तार किया था। तबसे लेकर अभी तक देशमुख जेल में कैद हैं। परमबीर सिंह के संगीन आरोपों के बाद उन्हें अपनी कुर्सी से इस्तीफ़ा देना पड़ा था। देशमुख पर बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वझे के जरिये वसूली करवाने का आरोप लगा था। यह भी आरोप है कि उन्होंने फर्जी कंपनियों के जरिये अपने ट्रस्ट में फंड ट्रांसफर करवाया था।

नवाब मलिक को भी इजाजत
महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक को विशेष पीएमएलए कोर्ट ने भले ही जमानत नहीं दी। लेकिन उन्हें निजी अस्पताल में इलाज करवाने की इजाजत जरूर मिल गई है। इलाज के दौरान उनके साथ उनकी एक बेटी भी रह सकती हैं। नवाब मलिक की मेडिकल बेल एप्लीकेशन को अदालत ने नामंजूर कर दिया है। नवाब मलिक कुर्ला स्थित क्रिटी केयर अस्पताल में इलाज करवाएंगे। इस दौरान अस्पताल के बाहर पुलिस बंदोबस्त भी तैनात किया जाएगा। पुलिस बंदोबस्त में होने वाले खर्च की भरपाई नवाब मलिक से करवाई जाएगी।

मलिक की गिरफ़्तारी
नवाब मलिक को प्रवर्तन निदेशालय ने बीते फरवरी महीने में गिरफ्तार किया था। जिसके बाद अदालत ने उन्हें ईडी की कस्टडी में भेजा था। नवाब मलिक पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के गुर्गों से संबंध रखने और टेरर फंडिंग का आरोप लगाया गया था। इस मामले में मलिक के परिजनों से भी ईडी के अधिकारियों ने पूछताछ की थी। ईडी की जांच के दौरान नवाब मलिक और उनके अंडरवर्ल्ड कनेक्शन की जानकारी भी सामने आई थी। अदालत में अपनी जिरह के दौरान ईडी के वकील ने कहा था कि नवाब मलिक की हिरासत मिलना बहुत जरूरी है। जिसके बाद ही उनके अंडरवर्ल्ड संबंधों का खुलासा हो सकेगा।



Source link

RELATED ARTICLES
%d bloggers like this: