37.1 C
New Delhi
Monday, May 16, 2022
HomeENGLISHTRENDING STORIESकर्नाटक: भाजपा नेता सी टी रवि बोले, राष्ट्रगान को विवाद बनाने वाले...

कर्नाटक: भाजपा नेता सी टी रवि बोले, राष्ट्रगान को विवाद बनाने वाले इस देश में रहने के लायक नहीं

सार

भाजपा नेता ने कहा कि किसी भी समय राष्ट्रगान गाना गर्व की बात होनी चाहिए। अगर किसी को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर किया जाता है, तो यह ऐसे लोगों की सोच को दर्शाता है।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सी टी रवि ने शनिवार को कहा कि जो लोग राष्ट्रगान को एक विवाद बनाने की कोशिश कर रहे हैं वे इस देश में रहने के लायक नहीं हैं, इसे किसी भी समय प्रस्तुत करना गर्व की बात होनी चाहिए। यह कहते हुए कि जो भावनात्मक रूप से भारतीय हैं, वे राष्ट्रगान गाने को विवाद नहीं बनाएंगे, उन्होंने कहा कि मदरसों को निर्देशों के तहत ऐसा करने के बजाय स्वेच्छा से इसका पालन करना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों में पिछले गुरुवार से राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ गाना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड के रजिस्ट्रार ने 9 मई को सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को इस आशय का आदेश जारी किया था, लेकिन यह 12 मई से लागू हो गया है, जब रमजान की छुट्टियों के बाद नियमित कक्षाएं शुरू हुईं। यह पूछे जाने पर कि क्या कर्नाटक के मदरसों में भी इस तरह के निर्देशों की जरूरत है, रवि ने कहा कि यह चर्चा का विषय नहीं है, उन्हें इसे स्वेच्छा से करना चाहिए, निर्देशों के तहत नहीं। 

रवि ने कहा, राष्ट्रगान गाना विवाद नहीं बनना चाहिए। राष्ट्रगान गाने को विवाद बनाने वाले इस देश में रहने के लायक नहीं हैं। यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी समय राष्ट्रगान गाना गर्व की बात होनी चाहिए। अगर किसी को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर किया जाता है, तो यह ऐसे लोगों की सोच को दर्शाता है। जिनकी प्रतिबद्धता है वे स्वाभाविक रूप से राष्ट्रगान गाएंगे और सम्मान करेंगे। जो लोग राष्ट्रीय ध्वज, राष्ट्रगान, संविधान का सम्मान नहीं करते हैं वे हैं सिर्फ तकनीकी रूप से इस देश में रह रहे हैं, भावनात्मक रूप से नहीं। जो लोग भावनात्मक रूप से भारतीय हैं, वे इसे विवाद नहीं बनाएंगे। 

विस्तार

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सी टी रवि ने शनिवार को कहा कि जो लोग राष्ट्रगान को एक विवाद बनाने की कोशिश कर रहे हैं वे इस देश में रहने के लायक नहीं हैं, इसे किसी भी समय प्रस्तुत करना गर्व की बात होनी चाहिए। यह कहते हुए कि जो भावनात्मक रूप से भारतीय हैं, वे राष्ट्रगान गाने को विवाद नहीं बनाएंगे, उन्होंने कहा कि मदरसों को निर्देशों के तहत ऐसा करने के बजाय स्वेच्छा से इसका पालन करना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों में पिछले गुरुवार से राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ गाना अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड के रजिस्ट्रार ने 9 मई को सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को इस आशय का आदेश जारी किया था, लेकिन यह 12 मई से लागू हो गया है, जब रमजान की छुट्टियों के बाद नियमित कक्षाएं शुरू हुईं। यह पूछे जाने पर कि क्या कर्नाटक के मदरसों में भी इस तरह के निर्देशों की जरूरत है, रवि ने कहा कि यह चर्चा का विषय नहीं है, उन्हें इसे स्वेच्छा से करना चाहिए, निर्देशों के तहत नहीं। 

रवि ने कहा, राष्ट्रगान गाना विवाद नहीं बनना चाहिए। राष्ट्रगान गाने को विवाद बनाने वाले इस देश में रहने के लायक नहीं हैं। यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी समय राष्ट्रगान गाना गर्व की बात होनी चाहिए। अगर किसी को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर किया जाता है, तो यह ऐसे लोगों की सोच को दर्शाता है। जिनकी प्रतिबद्धता है वे स्वाभाविक रूप से राष्ट्रगान गाएंगे और सम्मान करेंगे। जो लोग राष्ट्रीय ध्वज, राष्ट्रगान, संविधान का सम्मान नहीं करते हैं वे हैं सिर्फ तकनीकी रूप से इस देश में रह रहे हैं, भावनात्मक रूप से नहीं। जो लोग भावनात्मक रूप से भारतीय हैं, वे इसे विवाद नहीं बनाएंगे। 

Source link

RELATED ARTICLES
%d bloggers like this: